IRDA ka full form in Hindi – आई.आर.डी.ए क्या होता है?


क्या आप जानते है IRDA का full form क्या होता है IRDA क्या है? इसके क्या कार्य होते है? आईआरडीए का पूरा नाम व हिंदी अर्थ क्या होता है ये किसके अंतर्गत कार्य करते है आज की इस पोस्ट में हम IRDA की full form और इसका Hindi meaning क्या होता है के बारे में विस्तार से जानेंगे तो चलिए शुरू करते है |

IRDA ka full form in hindi

IRDA full form in Hindi – आई.आर.डी.ए क्या होता है?

IRDA का फुल फॉर्म “Insurance Regulatory and Development Authority of India” होता है और आईआरडीए का हिंदी अर्थ होता है भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण | IRDA, भारत में बीमा व्यवसाय से जुडी सभी कम्पनीयों को पूर्ण रूप से संचालित और नियंत्रण करने के लिए बनाई गयी है दरअसल यह एक ऐसी संस्था है जो भारत सरकार के अधीन चलाया जाता है |

IRDA संस्था बीमा व्यवसाय से संबंधित समस्त उत्पादों को नियंत्रित करती है बीमा क्षेत्र में जब कभी भी कोई विवाद या किसी बीमा नियम कानून का उलंघन होता है तो IRDA उस मामले की जाँच करती है और उसे तुरंत सुलझाती है यदि कोई बीमा संस्था IRDA द्वारा बनाये गए नियमों को तोड़ती है तो उन कंपनियों पर जुर्माना भी लगाया जाता है यानि की भारत में समस्त बीमा कम्पनीयों को आईआरडीए के नियमों के अनुसार अपना व्यवसाय संचालित करना अनिवार्य है |

IRDA संस्था का गठन मल्होत्रा कमेटी की सिफारिश के आधार पर Insurance Regulatory and Development Authority Act,1999 के तहत हुआ था IRDA का मुख्य कार्यलय हैदराबाद में स्थित है भारतीय बीमा उद्योग की कुछ जरूरतों को ध्यान में रखते हुए IRDA को सन् 2000 में संशोधन किया गया था जैसे की पालिसीधारकों के दावों का अतिशीघ्र निपटान करना, पालिसीधारकों के हितों की रक्षा करना, बीमा एजेंटों को प्रशिक्षित करना, बीमा कारोबार को बढ़ावा देना और बीमा उद्योग की सुधारात्मक वृद्धि को सुनिश्चित करना इत्यादि शामिल है |

IRDA संस्थान, भारत में बीमा एजेंट के लिए परीक्षाये भी कराती है यदि कोई अभ्यर्थी बीमा एजेंट बनना चाहता है तो वे IRDA की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकता है हालांकि आईआरडीए एजेंट के लिए अपेक्षित योग्यता 12th पास रखी गयी है |

इन्हें भी पढ़े
IRDA ka full form in Hindi – आई.आर.डी.ए क्या होता है? IRDA ka full form in Hindi – आई.आर.डी.ए क्या होता है? Reviewed by Tapan Das on 10:02 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.