ESI Kya Hota Hai ? ईएसआई की जानकारी हिंदी में


नमस्कार दोस्तों क्या आपको पता है की ESI क्या होता है? ESI full form और Hindi meaning क्या है, ईएसआई का पूरा नाम और अर्थ क्या होता है ESI कर्मचारी पर कब लागू होता है ESIC (Employee state insurance corporation) kya hai, ईएसआई एक्ट कब लागु हुआ था अगर आप ईएसआई की सामान्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो पोस्ट को पूरा पढ़े |

ESIC kya hai ESI full form in hindi

ESIC kya hai? ईएसआई की जानकारी हिंदी में

ESI का English में पूरा नाम “Employees State Insurance Corporation” (एम्प्लाइज स्टेट इंसोरेंस कारपोरेशन) होता है जिसे हिंदी में “कर्मचारी राज्य बीमा निगम” कहा जाता है यह एक ऐसी राज्य बीमा व्यवस्था है जिसमे सभी प्रकार के कर्मचारी जो विभिन्न इकाईयों में कार्यरत है जिसमे कर्मचारियों की संख्या 10, 20 या इससे अधिक है उनके स्वास्थ्य का बीमा कराने की व्यवस्था है इस व्यवस्था को स्वयं वित्तीय सामाजिक सुरक्षा भी कहा जाता है क्योकि इस व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए कर्मचारी, नियोक्ता और राज्य सरकार सभी का पैसा एकत्रित किया जाता है |

ईएसआई एक्ट 1948 को 1948 में अधिनियमित किया गया था लेकिन इसका कार्य 24 फरवरी 1952 में शुरू किया गया ताकि ईएसआई में पंजकृत व्यक्तियों व उनके परिवारों के सदस्य का मुफ्त उपचार व ईलाज हो सकें |

ईएसआई से मुफ्त ईलाज करवाने हेतु प्रत्येक क्षेत्र में ESI की डिस्पेंसरी या अस्पताल होते है ISI में पंजीकृत व्यक्ति व उनके परिवार के सदस्य को यदि कोई आम बीमारी होती है तो वे डिस्पेंसरी से ईएसआई कार्ड के माध्यम से तुरंत दवाईयों ले सकते है और यदि कोई बड़ी बीमारी जैसी की ऑपरेशन, डिलीवरी इत्यादि में पंजीकृत व्यक्ति को ईएसआई अस्पताल में भर्ती के लिए Form 4 भरना पड़ता है जिसके बाद मरीज भर्ती होकर इलाज करा सकता है ISI सुविधा एक कर्मचारी के लिए बहुत उपयोगी है इससे बीमित व्यक्ति और उसके परिवार को विभिन्न प्रकार के लाभ मिलते है |

हम आशा करते है आपको ESIC क्या है और ESI की full form in हिंदी क्या है पोस्ट पसंद आई होगी यदि आपका ईएसआई से सम्बन्धित कोई भी सवाल हो या आप कोई सुझाव देना चाहते है तो कमेंट्स में जरुर बताये |

इन्हें भी पढ़े
ESI Kya Hota Hai ? ईएसआई की जानकारी हिंदी में ESI Kya Hota Hai ? ईएसआई की जानकारी हिंदी में Reviewed by Admin on 11:56 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.